आरोग्यमहाराष्ट्र

विदर्भ में यवतमाल का पारा चढ़ा, नागपुर में भी गर्मी ने दिखाए अपने तेवर

मौसम विभाग की चेतावनी के बाद मंगलवार को भी शहर हीटवेव का असर देखने को मिला। सूर्यदेव ने अपने तीखे तेवर दिखा और आंखें तरेरी जिससे गर्मी ने लोगों की हालत खराब कर दी। भले ही मंगलवार को अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई लेकिन गर्मी ले लोगों को बेहाल कर दिया। दोपहर में चुभने वाली गर्म हवा चल रही था। अब मौसम विभाग ने 9 मई को गरज-चमक के साथ तेज हवा चलने की संभावना जताई है वहीं विदर्भ के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ तेज हवा और ओले गिरने की आशंका जताई है

मंगलवार को गर्मी सीधा-सीधा असर सड़कों पर देखने को मिला। भले ही लोग कोरोना के चलते लाॅकडाउन के वजह से बाहर नहीं निकल रहे है लेकिन जरुरत पड़ने पर भी इन दिनों दोपहर में निकलने से बच रहे है क्योंकि शहर में जीवनावश्यक वस्तुओं की दुकान खुली हुई हैं। धूप से बचने के लिए लोग डुपट्टा और कपड़े से बदन को ढक कर निकल रहे है। गर्मी की चुभन ने मंगलवार को हालत खराब कर दी।

अधिकतम पारा 2.4 डिग्री सेल्सियस कम होने की वजह से 42.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत तापमान से 0.1 डिग्री सेल्सियस अधिक है। वहीं, न्यूनतम तापमान में 3 डिग्री सेल्सियस बढ़त होने की वजह से न्यूनतम तापमान 26.4 दर्ज किया गया, जो औसत तापमान से 0.9 डिग्री सेल्सियस कम है। मंगलवार को भले ही शहर में गर्मी ने हालात खराब की लेकिन बुधवार से हीटवेव का अलर्ट खत्म हो गया। इससे हल्की राहत मिलेगी। वहीं 9 मई को जिले में गरज-चमक के साथ तेज हवा चलने का अनुमान जताया गया है जबकि विदर्भ के भंडारा, गोंदिया, गड़चिरोली और चंद्रपुर में गरज-चमक के साथ तेज हवा और ओले गिरने की आशंका है।

यवतमाल जिला मंगलवार को काफी गर्म रहा। तापमान 44.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस वर्ष में अब तक का सबसे ज्यादा तापमान है।

Share With Your Friends If you Loved it!
  •  
  •  
  •  
  •