दुनियाबिजनेस

5जी की रेस से बाहर हो सकती है चीनी कंपनी Huawei, मोदी सरकार के मंत्रियों ने की बैठक

पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव का जवाब आर्थिक मोर्चे पर दे रही मोदी सरकार अब चीन को एक और झटका देने की तैयारी में है। 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगाने के बाद चीनी कंपनी हुवावे को 5जी की दौड़ से बाहर किया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी से हुवावे को बाहर करने पर सैद्धांतिक सहमति बन गई है। सोमवार देर शाम हुई बैठक में सुरक्षा कारणों से यह फैसला किया गया है। इससे पहले बीते साल 31 दिसंबर को ट्रायल पर बनी उच्चस्तरीय समिति ने हुवावे की भागीदारी का विरोध किया था। समिति ने कंपनी के चीनी सेना व सरकार से करीबी संबंध देखते हुए संवेदनशील जानकारी लीक होने का अंदेशा जताया था।

59 चीनी एप पर प्रतिबंध के बाद केंद्र सरकार ने इंटरनेट सेवा मुहैया कराने वाली सभी कंपनियों को इन्हें तत्काल ब्लॉक करने के निर्देश दिए हैं। दूर संचार मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आदेश में 35 और 24 एप की लिस्ट इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को सौंपी गई है। इससे पहले, टिकटॉक एप को मंगलवार को गूगल प्ले और एपल एप स्टोर से हटा लिया गया है। सूत्रों का कहना है, टिकटॉक ने खुद इन स्टोर से एप को हटाया है। एप पर प्रतिबंध से चीन सरकार तिलमिला गई है। चीनी विदेश मंत्री के प्रवक्ता लाओ लिजियान ने कहा, भारत के कदम से हम चिंतित हैं और स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। चीन सरकार हमेशा अपने कारोबारियों को अंतरराष्ट्रीय व स्थानीय नियमों का पालन करने को कहती है।

Share With Your Friends If you Loved it!
  •  
  •  
  •  
  •